Har Ladka Bura Nahi Hota Poetry Lyrics For Boys By Goonj Chand

Kisi Ke Keh Dene Bhar Se Har Ladka Bura Nahi Hota Beautiful Poetry Lyrics
 By Goonj Chand Especially For Boys
Labeled With G Talks

Har Ladka Bura Nahi Hota Poetry Lyrics For Boys By Goonj Chand
Har Ladka Bura Nahi Hota Poetry For Boys By Goonj Chand

Beautiful Hindi Poetry Lyrics By Goonj Chand


Kuch Mardo Ki Vajah Se Sabko Galat

Thehraana Bhi Sahi Nahi Hota

Kisi Ke Keh Dene Bhar Se Har

Ladka Bura Nahin Hota



Koi Udaye Agar Majaak Kisi Ka Toh

Vo Aksar Tok Deta Hai

Tumhare Ghar Mein Bhee Toh Maan Behane Hai Ye

Keh Kar Rok Deta Hai



Chhod Deta Hai Vo Raasta Aksar

Ladaki Ke Liye Ji Ha

Har Koi Raasta Rokane Vaala Nahin Hota

Kisi Ke Keh Dene Bhar Se Har

Ladka Bura Nahin Hota



Kuch Mardo Ki Vajah Se Sabko Galat

Thehraana Bhi Sahi Nahi Hota

Kisi Ke Keh Dene Bhar Se Har

Ladka Bura Nahin Hota





Jindagi Ko Kaise Jeena Hai Ye

Bhi Usey Bakhoobee Aata Hai

Aur Doston Ke Saath Party

Karne Toh Vo Bhi Jaata Hai

Par Aadat Hai Use Maan Baap Ke



Saath Khaana Khaane Ki

Isaliye Vo Ghar Aane Mein Let Nahin

Hota Aur Jee Ha

Kuch Logo Ke Kah Dene Bhar Se Har

Ladka Bura Nahin Hota



Apanee Zimmedaariyon Se Vo Kabhi Bhaagta Nahin Hai

Aur Museebat Ke Samay Himmat Haarta Nahin Hai

Dafan Kar Deta Hai Vo Apane Aramaanon

Ko Sabaki Khushi Ke Liye

Har Ladka Baap Ki Daulat Par Aish

Karne Vaala Nahin Hota

Kuch Logo Ke Kah Dene Bhar Se Har

Ladka Bura Nahin Hota



Kuch Mardo Ki Vajah Se Sabko Galat

Thehraana Bhi Sahi Nahi Hota

Kisi Ke Keh Dene Bhar Se Har

Ladka Bura Nahin Hota



Ishq Ki Duniya Mein Bhi Vo Bada

Imaanadaar Hota Hai

Aur Apane Ishq Ki Hifhaazat Ke Liye

Sabse Jaanadar Hota Hai

Aur Aksar Dhak Deta Hai Dupatte

Se Apani Mohabbat Ko



Kyoki Har Ladka Ishq Main

Dupatta

Hataane Vaala Nahin Hota

Kuch Logo Ke Kah Dene Bhar Se Har

Ladka Bura Nahin Hota



Kuch Mardo Ki Vajah Se Sabko Galat

Thehraana Bhi Sahi Nahi Hota

Kisi Ke Keh Dene Bhar Se Har

Ladka Bura Nahin Hota



Har Ladka Bura Nahi Hota Hindi Poetry Lyrics By Goonj Chand


कुछ मर्दा की वजह से सबको गलत
ठहराना भी सही नहीं होता
किसी के कहने देने भर से हर
लड़का बुरा नहीं होता

कोई उड़ाए अगर मजाक किसी का तो
वो अक्सर टोक देता है
तुम्हरे घर में भी तोह माँ बेहने है ये
कह कर रोक देता है

छोड देता है वो रास्ता अक्सर
लड़की के लिए जी हा

हर कोई रास्ता रोकने वाला नहीं होता
किसी के कहने देने भर से हर
लड़का बुरा नहीं होता

कुछ मर्दा की वजह से सबको गलत
ठहराना  भी सही नहीं होता
किसी के कहने देने भर से हर
लडका बुरा नहीं होता

जिन्दगी को कैसे जीना है ये
भी उसे बख़ूबी आता है
और दोस्तों के साथ पार्टी
करने तो वो भी जाता है
पर आदत है उसे माँ बाप के

साथ खाना खाने की
इसलिए वो घर आने में लेट नहीं
होता और जी हा
कुछ लोगो के कहने देने भर से हर
लड़का बुरा नहीं होता

अपनी ज़िम्मेदारियों से वो कभी भागता नहीं है
और मुसीबत के समय हिम्मत हारता नहीं है
दफ़्न कर देता है वो अपने अरमानों
को सबकी खुशी के लिए
हर लड़का बाप की दौलत पर ऐश
करने वाला नहीं होता
कुछ लोगो के कहने देने भर से हर
लड़का बुरा नहीं होता

कुछ मदो की वजह से सबको गलत
ठहराना भी सही नहीं होता
किसी के कहने देने भर से हर
लड़का बुरा नहीं होता

इस्क की दुनिया में भी वो बड़ा
ईमानदार होता है
और अपने इश्क़ की हिफाज़त के लिए
सबसे जानदर होता है
और अक्सर दुख देता है दुपट्टे
से अपनी मोहब्बत को
में
कियोकि हर लड़का इश्क़
दुपट्टा
हटाने वाला नहीं होता
कुछ लोगो के कहने देने भर से हर
लड़का बुरा नहीं होता

कुछ मर्दों की वजह से सबको गलत
ठहराना भी सही नहीं होता
किसी के कहने देने भर से हर
लड़का बुरा नहीं होता

***Thanks For Reading***
Har Ladka Bura Nahi Hota Poetry Lyrics For Boys By Goonj Chand 



Post a comment

0 Comments